कांग्रेस की नीति हमेशा देश तोड़ने की रही हैः गिरिराज सिंह

Hindi News  : केन्द्रीय सूक्ष्म ,लघु एवं मध्यम उद्योग राज्य मंत्री गिरिराज सिंह ने कर्नाटक में अपने झंडे को लेकर गठित समिति पर आज गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी की नीति देश को तोड़ने की रही है ।

गिरिराज सिंह ने यहां संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि जम्मू कश्मीर की समस्या समाप्त नहीं हुई है और कांग्रेस ने कर्नाटक में अपने झंडे को लेकर एक नया विवाद खड़ा कर दिया है।

1500443061 (1)

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी को कर्नाटक मुद्दे पर बयान देकर अपनी पार्टी की स्थिति को स्पष्ट करना चाहिये । यदि वे ऐसा नहीं करते हैं तो माना जायेगा कि कर्नाटक सरकार कांग्रेस हाईकमान की शह पर राज्य के लिए अलग झंडे की मांग उठा रही हैं ।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की देश तोड़ने की नीति जारी रहेगी तो देश की जनता इसे बर्दाश्त नहीं करेगी। देश में किसी समस्या पर संसद में चर्चा की जा सकती है। उन्होंने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती का राज्यसभा से इस्तीफा देना राजनीति से प्रेरित है।ताजा खबरो के लिए क्लिक करे Samachar Jagat पर

आत्माओं का सच जानना है तो जाएं यहां

Hindi News : अमेरिका के कासाडागा टाउन को साइकिक कैपिटल के नाम से भी जाना जाता है। यहां के लोगों का मानना है कि उनमें ऐसी शक्ति मौजूद है कि वह माध्यम बनकर या अन्य तरीकों से परलोक गए व्यक्ति की आत्मा से संपर्क कर सकते हैं। आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि यहां के लोग प्रेतात्माओं से पीड़ित व्यक्तियों का उपचार करने का भी दावा करते हैं।

1489656636.jpg

अपनी इसी अनोखी खासियत की वजह से ये जगह पूरी दुनिया में फेमस है और दूर-दूर से लोग यहां पारलौकिक शक्तियों का अनुभव करने आते रहते हैं। न्यूयॉर्क के आध्यात्मिक गुरु जॉर्ज कॉल्बी ने 1875 में इस टाउन को बसाया था। धीरे-धीरे यहां लोग आकर बसने लगे और खुद स्प्रिचुअल हीलर्स बन गए।

आज की तारीख में कासाडागा में करीब 150 स्प्रिचुअल हीलर्स हैं, जो मृत आत्माओं से संपर्क करने का दावा करते हैं। यहां ईसाईयत, दर्शन और विज्ञान के मिले-जुले आधार पर केंद्रित आध्यात्म का एक अनूठा रूप देखने को मिलता है। हर साल यहां करीब 15 से 20 हजार लोग आते हैं और आत्माओं से बात करके एक अनूठा आनंद प्राप्त करते हैं।

ताजा खबरो के लिए क्लिक करे Samachar Jagat पर